10+ चूहा पर कविता | Poem On Rat In Hindi

Rate this post

Poem On Rat In Hindi :- आज के पोस्ट में “चूहा” विषय पर बेहतरीन कविताएं लेकर आएं हैं। छोटे बच्चों को स्कूल के गृह कार्य के लिए कुछ जानवरों पर कविताएं लिखने को दिया जाता है। इसीलिए हम यह कविता साझा कर रहा हूं। यदि चूहा विषय पर कविता अच्छा लगे तो दोस्तों के साथ अवश्य साझा करें। धन्यवाद!!!

चूहा आया

Poem On Rat

चूहा आया, चूहा आया,

चूं-चूं करता चूहा आया।

पूंछ हिलाता चूहा आया,

मूंछ हिलाता चूहा आया।

देखो वह कितना फुर्तीला,

कोई उसको पकड़ न पाया।

-शुभांग

चूहा

Poem On Rat In Hindi

घर में जब भी आता चूहा,

चीजें बहुत कुतर जाता चूहा।

पाकर झट पैरों की आहट,

बिल में है छुप जाता चूहा।

मम्मी किचेन में जब न होती,

रोटियां सारी खा जाता चूहा।

रात गए जब सो हम जाते,

उधम बहुत है मचाता चूहा।

सुनकर बिल्ली मौसी की म्याऊँ,

झट बिल में घुस जाता चूहा।

मो. मुमताज़ हसन

चूहों की पाठशाला

Poem On Mouse In Hindi

सब चूहे मिल पढ़ने आये,

संग में तख्ती, स्लेट लाये।

बन्दर मामा पाठ पढ़ाते,

मिठू से वे रटते जाते।

दो दूनी का पढ़ो पहाड़ा,

मिक्की बोला लगता जाड़ा।

मुझको घर जल्दी है जाना,

जाकर मीठा हलवा खाना।

तभी वहाँ इक बिल्ली आयी,

बन्दर जी ने डाँट पिलायी।

उसके गले की बजी घंटी,

चूहे भागे समझे छुट्टी।

-राजेन्द्र निशेश

चूहे की चालाकी

Hindi Poem On Rat

बिल्ली ने चूल्हा सुलगाया,

एक पतीला भात पकाया।

हलवा पूड़ी खीर बनाई,

चूहे को न्यौता दे आई।

चूहा भागा-भागा आया,

जी भर उसने खाना खाया।

समझा वो सारी चालाकी,

बोला मेरी बिल्ली काकी।

दो पल ठहरो मैं आता हूँ,

सारे चूहों को लाता हूँ,

बिल्ली मन ही मन मुस्काई।

बोली जाओ जल्दी भाई,

चूहा ने ठेंगा दिखलाया,

बिल्ली को यूँ मजा चखाया।

-सुनीता काम्बोज

मुझे उम्मीद है की यह लेख चूहा पर कविता के बारे में जो जानकारी दी गयी है वो आपको अच्छा लगा होगा, यदि आपको यह post चूहा पर कविता (Poem On Rat In Hindi) पसंद आया है तो कृपया कर इस पोस्ट को Social Media अपने दोस्तों के साथ अधिक से अधिक शेयर करें ताकि उन्हें भी इसके बारे में पूरी जानकारी मिल सके। हमारे वेबसाइट Gyankinagri.com को विजिट करना न भूलें क्योंकि हम इसी तरह के और भी जानकारी आप के लिए लाते रहते हैं। धन्यवाद!!!

Leave a Comment

close