Top 21+ Best Poem On Soldiers In Hindi | वीर-बहादुर सैनिक पर कविता

वीर जवान

Poem On Soldiers


बढ़े देश का जिससे मान।

वह कहलाता वीर जवान।।


सीमा की रक्षा जो करता,

जाड़ा, गर्मी, वर्षा, सहता,

करे निछावर अपने प्राण।

वह कहलाता वीर जवान।।


नहीं शत्रुओं से जो डरता,

पहरेदारी डटकर करता,

सबका करता जो कल्याण।

वह कहलाता वीर जवान।।


नहीं युद्ध में पीठ दिखाता,

हँसते-हँसते गोली खाता,

बने राष्ट्र की जो पहचान।

वह कहलाता वीर जवान।।


कष्ट हमेशा ही जो सहता,

नहीं शिकायत कोई करता,

होता जिसका काम महान।

वह कहलाता वीर जवान।।


नहीं कभी जो हिम्मत हारे,

परहित में ही सब कुछ वारे,

करे शीश का भी जो दान।

वह कहलाता वीर जवान।।


सुखमय जीवन, भय से वंचित,

जिसके कारण सभी सुरक्षित,

करते जिसका सब सम्मान।

वह कहलाता वीर जवान।।


जिसके दम पर देश खड़ा है,

अन्यायी से सदा लड़ा है,

करते जिस पर सभी गुमान।

वह कहलाता वीर जवान।।

-राम नरेश उज्ज्वल


हम भारत के सैनिक

Poem On Soldiers

हम भारत के सैनिक हैं,

यह देश हमें अति प्यारा है।

इसकी रक्षा करना सबसे,

पहला फर्ज हमारा है।

इसकी पावन मिट्टी में हम,

खेलकूद कर बड़े हुये।

फल, औषधियाँ, अन्न-जल पा,

स्वस्थ, पुष्ट हो खड़े हुये।

वृक्ष, पुष्प, पर्वत मालायें,

प्रकृति ने रूप सँवारा है।

इसकी रक्षा करना सबसे,

पहला फर्ज हमारा है।

मान और सम्मान देश का,

कभी नहीं जाने देंगे।

अपने भारत की धरती पर,

शत्रु को नहीं आने देंगे।

पर्वत की चोटी पर चढ़कर,

दुश्मन को ललकारा है।

इसकी रक्षा करना सबसे,

पहला फर्ज हमारा है।

पूर्व दिशा में सूरज उग कर,

नई रोशनी भरता है।

देश गान गा मधुर लय में,

झर-झर झरना झरता है।

जागो, उठो! चूम लो चोटी,

रवि ने हमें पुकारा है।

इस भारत की रक्षा करना,

पहला फर्ज हमारा है।

-श्याम सुन्दर श्रीवास्तव ‘कोमल’

सिपाही

Poem On Soldiers In Hindi

दूसरों के जीवन को बचाने के लिए,

दिनभर मेहनत करता है।

हमारी रक्षी के लिए,

हमेशा तत्पर रहता है।

परिवार से मिलने का,

मौका कब मिलेगा।

उसे नहीं पता रहता है

अपने देश की रक्षा के लिए,

अपने प्राणों की बली देता है।

वह भी किसी का,

भाई या बेटा होता है।

पर इसकी परवाह न कर,

वह देश के लिए शहीद होता।

अपनी जान की परवाह नहीं,

देश के लिए जान दिया।

यही तो है सिपाही का धर्म,

जो हर सिपाही ने निभा लिया।

सच्ची श्रद्धा का,

उदाहरण है सिपाही।

देश के लिए जान की,

बाजी लगाने वाला है सिपाही।

-रूपम अग्रवाला

वीर-जवान

Poem On Soldiers

माँ भारती तुझे बुलाए,

दुश्मन खड़ा है शस्त्र-तान।

सुन लो मेरी चीख-पुकार,

हे भारत के वीर जवान।।

रखो नजर तू सरहदों पे,

चौकसी से सीना तान।

शत्रु घात लगाये बैठा,

देखो फिर से बीर-जवान।।

तू नहीं तो कुछ भी नहीं है,

तेरे बिना है देश वीरान।

तू ही देश की लाज बचाना,

हे भारत के बीर-जवान।

मिटा दो उन दहशतगर्दो को,

जो बसते हैं मेरी जान

सुन लो मेरी चीख-पुकार,

हे भारत के वीर-जवान।।

नाश करो घुसपैठीयों का,

जो सीमा को पार करे।

दिखा दो तुम बीरों की ताकत,

जो डर कर पीछे भाग पड़े।

सहिष्णुता का त्याग करो तुम,

हर लो अब दुश्मन की प्राण।

सुन लो मेरी चीख-पुकार,

हे भारत के वीर जवान।।

जब भी बजता युद्ध बिगुल,

सम्भल के तू रण में जाना।

बनो तुम शूरता की मिसाल,

कभी दुश्मन के हाथ न आना।।

बीरता का परचम लहरा कर,

बढ़ाओ तुम भारत की शान।

सुन लो मेरी चीख-पुकार,

हे भारत के वीर-जवान।।

अपने देश के अन्दर से,

मतभेदों को दूर करो।

सबको एक अधिकार से,

बहम चकनाचूर करो॥

जाति-धर्म से ऊपर उठकर,

बनाओ अब नव हिन्दुस्तान।

सुन लो मेरी चीख-पुकार

हे भारत के वीर-जवान।।

मानवता के पथ पे चल कर,

दया-धर्म की बात करो।

तू अपना ईमान बचाकर,

हर दिल में सत्य सौगात भरो॥

दिखाओ बनकर विश्व-जगत को,

सच्चे भारतीय की पहचान।

सुन लो मेरी चीख-पुकार,

हे भारत के वीर-जवान।।

-सोनू बैठा

जान हथेली पर लिए

Poem On Soldiers In Hindi

वो जान हथेली पर रखकर,

मरने से नहीं डरते हैं।

सरहद पर वो पहरा देकर,

रक्षा सबकी करते हैं।

रण में जख्मी होकर भी वो,

पीछे कभी न हटते हैं।

परिवार से दूर होकर भी वो,

देश की रक्षा करते हैं।

ऐसे वीर जवान हैं वो,

हिंदुस्तान की शान हैं वो।

प्रियांशु अरोरा

देश के हैं हम सिपाही

Poem On Soldiers In Hindi

इस मिट्टी पर जन्म लिया,

इस पर जान लुटाएंगे।

इसकी खातिर तन मन सब,

हम अर्पण कर जाएंगे।

देश पर मिटेंगे हम,

मार्ग पर डटेंगे हम।

शत्रु हो यदि सामने,

किन्तु ना हटेंगे हम।

देश के हैं हम सिपाही,

गीत देश के गाएंगे।

देश के किसान हम।

देश के जवान हम।

देश के लिये सदा,

जाएंगे बलिदान हम।

हम मेहनत करने वाले,

अधिक अन्न उपजाएंगे।

सिपाही बेजोड़ हम,

चट्टान दें फोड़ हम।

देते हैं कटु जबाब,

शत्रु को मुँह तोड़ हम।

हम भारत के सैनिक हैं।

झण्डा हम फहराएंगे।

श्याम सुन्दर श्रीवास्तव ‘कोमल’

सीमा का प्रहरी

Poem On Soldiers In Hindi

मातृभूमि की रक्षा के हित,

जो होता बलिदान है।

वंदनीय सीमा का प्रहरी,

होता वही महान है।

इंच-इंच भी भूमि देश की,

प्यारी प्राण समान है।

जिसके लिए देश की रक्षा,

गीता और कुरान है।

उसकी निगरानी में जैसे,

खड़ा अटल चट्टान है।

वन, उपवन, गिरि, सरिताओं पर,

जिसको बहुत गुमान है।

धड़कन में फैक्टरियाँ दिल में,

खेत और खलिहान है।

सावधान चौकी पर रहना,

पूजा और अजान है।

हिन्दू-मुस्लिम, सिख, ईसाई,

सबके लिए समान है।

भेद-भाव, छल-कपट मिटाता,

वह सच्चा इन्सान है।

जाति-धर्म का भेद नहीं वह,

असली हिन्दुस्तान है।

उस माँ के सपूत का हर कवि,

करता गौरव गान है।

-रामकुमार गुप्त

सैनिक

Poem On Soldiers In Hindi

देश के सैनिकों को सलाम,

ये करते बहुत अच्छा काम।

इनसे ही है देश की पहचान,

पूरा देश करें सैनिकों का मान।

देश के लिए ही जीते हैं,

देश के लिए ही मरते हैं।

मां भारती की गोद में सैनिक सो गए,

चट्टान जैसे शत्रु के सामने खड़े हो गए।

बुरी नजर से भारत की ओर देखा जिसने,

हमेशा देश के सैनिकों से मात खाई उसने।

ये भारत के वीर सपूत बड़े विशाल है,

देश के लिए इनका त्याग बड़ी मिशाल है।

इनकी वजह से ही आज आजादी मनाते है,

उनकी वजह से ही हम खुशी से रह पाते है।

देश के सैनिकों से ही हमारे पास है आराम,

अगर ये नहीं होते तो जीना हो जाता हराम।

सैनिक परिवार को छोड़ देते,

सैनिक दुश्मनों को तोड़ देते।

सैनिक देश के लिए शहीद हो जाते है,

सैनिक देश के लिए मर मिट जाते है।

-पाखी जैन

नमन उन वीर जवानों का

Poem On Soldiers In Hindi

नमन उन वीर जवानों का,

स्मरण उनके बलिदानों का,

सीमाओं पर जो नित रचते,

शूरता के नए प्रतिमानों का।

सीमाएं पूछ रहीं हमसे,

कहाँ हम थीं, कहाँ हम हैं?

अतिक्रमित, अनधिकृत

अभी भी क्यों, जहाँ हम हैं?

शत्रु हर वेश में, है लक्ष्य

देश को तोड़ना उनका।

पुकारती भारत माता आज,

सभी अपनी संतानों को–

किसानों को, उद्यमियों को,

बच्चे-बूढ़े, नौजवानों को,

सब मिलकर रहें, करते रहें

जो भी काम हैं जिनका।

नमन उन वीर जवानों का,

स्मरण उनके बलिदानों का।

-गोपाल सिन्हा

हम फौजी

Poem On Soldiers In Hindi

भारत माँ के चरणों में ही,

शीश किया हमने कुर्बान।

छोड़ दिया है ये जग सारा,

रहे सलामत इसकी शान।

छोड़ दिया साथी को,

अपने गले मौत के डाली बाँह।

जीवन की परवाह नही है,

बंदूकों से किया विवाह।।

शत्रु को नही आने देगे,

चाहे कितने होवे ढेर।

हम धरा के अमर सपूत है,

हम ही तो है सच्चे शेर।

नजर तुम्हारी उठने पाये,

ये नही हमें बरदाश्त।

सबक सिखाएँगे हम ऐसा

भूलोगे फिर सारी बात।

सब कुछ सहना सीखा हमनें,

सहा नही पर है अपमान।

घात लगाकर वार न करते ,

लेते है हम सीधे जान।

गर्मी में तपते सूरज,

ठंडी में शीतल तूफान।

दूर रहे तो जी जाओगे,

खेल किया तो ले लेगे जान।

घर बहन बेटी न जाने,

सेना ही अपना परिवार।

छोड़ दिया है सबको हमने,

थामी जब से है तलवार।

सागर से शीतल है लगते,

पर लहरों में रखते है जान।

तोड़ दिया सरहद को कितनी,

एक बार में बडी उड़ान।

-सुमति श्रीवास्तव

भारत के सैनिक और सेनाएं

Republic Day Poem Hindi

भारत अपना गौरवशाली,

भारत देश महान |

जिसकी रक्षा करती सेना,

सैनिक वीर जवान |

इस पावन धरती पर जब-जब,

शत्रु कभी घुस आया।

टूट पड़े थल सेना सैनिक,

उसको मार भगाया।

शान नहीं जाने दी अपनी,

भले गवां दी जान।

भारत अपना गौरवशाली,

भारत देश महान।।

सागर तट से कभी शत्रु ने,

मुँह भारत को मोड़ा।

थल सेना के वीर सैनिकों,

ने मुँह उनका तोड़ा।

कभी न झुकने दिया तिरंगा,

सदा बढ़ाई शान |

भारत अपना गौरवशाली,

भारत देश महान ।।

वायु मार्ग से दुश्मन ने जब,

है घुसने की ठानी।

टूट पड़े दुश्मन के ऊपर,

वायु सैन्य सैनानी ।

भारत का गौरव हैं सैनिक,

हम करते सम्मान।

भारत अपना गौरवशाली,

भारत देश महान।।

करती हैं सेनाएँ तीनों,

सदा देश की रक्षा।

इनसे ही है सीमाओं की,

चारों ओर सुरक्षा।

सेनाएँ हैं अपना गौरव,

हम करते गुणगान।

भारत अपना गौरवशाली,

भारत देश महान।।

-श्याम सुंदर श्रीवास्तव 

वर्दी है भगवान

Poem On Soldiers In Hindi

वर्दी है भगवान फौजी मेरा नाम,

गोलियाँ खाके गरदन झुकाता नहीं।

कदम को बढ़ा के हटाता नहीं,

वर्दी है भगवान फौजी मेरा नाम।

शहीदों के खून की खुशबू पुकारे,

कोई आबरू-ए-वतन न उजाड़े।

हदों की हिफाजत करना हमारा धर्म है,

हिमालय से पत्थर ना कोई उखाड़े।

ये ही है अरमान फौजी मेरा नाम।

फौजी रब दा दूजा नाम

वर्दी है भगवान फौजी मेरा नाम

हिंदू सिख ईसाई कोई मुसलमान है,

ये बेटे हैं चार मगर एक माँ है।

तिरंगे का आँचल उतारे न कोई,

यही कौम की बंदगी का निशाँ है,

बाहें कृपाण-फौजी मेरा नाम।

-जितेन्द्र कुमार

आशा है की आपको इस पोस्ट से Top 21+ Best Poem On Soldiers In Hindi | वीर-बहादुर सैनिक पर कविता के बारे में जो जानकारी दी गयी है वो आपको अच्छा लगा होगा, आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आई है तो अपने दोस्तों के साथ अधिक से अधिक शेयर करें ताकि उन्हें भी इसके बारे में पूरी जानकारी मिल सके। हमारे वेबसाइट Gyankinagri.com को विजिट करना न भूलें क्योंकि हम इसी तरह के और भी जानकारी आप के लिए लाते रहते हैं। धन्यवाद!!!

Leave a Comment