13+ तोता पर सुंदर कविता | Poem On Parrot In Hindi

Poem on Parrot in Hindi :- तोता पक्षी सबसे सुंदर और समझदार माना जाता है। इसे प्यार से सब लोग मिठ्ठू कहते हैं। इसकी सुंदर चोंच और हरे रंग की शरीर को देखकर ही मन खुश हो जाता हैं। हमने यहां पर “तोता” विषय पर बेहतरीन कविताएं लेकर आएं हैं। हम उम्मीद करते हैं कि यह सभी कविताएं आपको पसंद आएगी। धन्यवाद!!!

मैं तोता

Poem On Parrot

मैं तोता, मैं तोता,

हरे रंग का हूँ दिखता।

मैं तोता, मैं तोता,

हरे रंग का हूँ दिखता।

चोंच मेरी लाल रंग की,

मिठ्ठू मिठू मैं करता।

चोंच मेरी लाल रंग की,

मिठू मिठू मैं करता।

मिठू मिठू मिठू मिठू।

तीन तोते

Poem On Parrot

हरे नीम की डाल पर तीन तोते थे,

वो तीनों सोते थे।

एक पटाखा फूटा,

जैसे कोई बरतन टूटा,

डर गये तीनों तोते।

डाल को अपनी छोड़-छाड़ कर,

उड़ गये तीनों तोते।

पहला तोता फुर्र,

दूसरा तोता फुर्र-फुर्र,

तीसरा तोता फुर्र-फुर्र-फुर्र।

तोता

Poem On Parrot In Hindi

हरे रंग का है ये पक्षी,

लाल है इसकी चोंच।

फल सब्ज़ी दाना दो,

लेता सब मुँह में खोच।

अपनी आवाज़ की नक़ल करा लो,

ज्योतिष का फल निकल वालो।

सब है ये कर लेता,

ये है प्यारा तोता।

-अनुष्का सूरी

नानी माँ ने तोता पाला

Poem On Parrot In Hindi

नानी माँ ने तोता पाला,

करता दिनभर गड़बड़ झाला,

पिंजरे में ही दौड़ लगाता।

मिछु-मिठ्ठ कह कर गाता,

जाने कब करता आराम,

नाम बताता मिठ्छु राम।

-रोहित चौहान

तोता

Poem On Tota

तोता हूँ, मैं तोता हूँ,

हरे रंग का होता हूँ।

चोंच मेरी लाल है,

सुंदर मेरी चाल है।

बागों में मैं रहता हूँ,

मीठे फल मैं खाता हूँ।

तोता राजा

Parrot Par Kavita

तोता राजा बड़ा सयाना,

खाता मिचें गाता गाना।

कहता मिट्ठू बेटा खुद को,

नाम हमारे लेता देखो।

मिठू जी की शादी में

Parrot Par Kavita In Hindi

मिठू जी की शादी में,

बजे नगाड़े ढोल।

सूट-बूट नीली टाई,

पगड़ी गोल मटोल।

बेबी कोयल ने गाए,

मधुरिम मंगल गान।

सभी बाराती लगे नाचने,

सुन बुलबुल की तान।

मोरु भैया पंख खोलकर,

अपना हुनर दिखाते।

मुर्गा, तीतर और कबूतर,

नाच-नाच बल खाते।

प्यारी मैना सकुचाती-सी,

मन्द-मन्द मुस्काए।

बुलबुल करती हँसी-ठिठोली,

पल-पल उसे सताए।

-नरेन्द्र सिंह

तोता

Parrot Par Kavita In Hindi

हरा हरा तोता,

पेड़ में उसका खोता,

हरी-हरी मिर्ची खाता,

बड़े मजे से सो जाता।

लाल-लाल उसकी चोंच,

होती है बहुत कठोर,

जब कोई उसे चिढाता,

झट से वह चोंच गडाता।

तोता बड़ा ज्ञानी,

मीठी मीठी वाणी,

राम-राम रटता,

मुनिया को भी रटाता।

जब भी कोई घर में आता,

मुनिया को आवाज लगता,

सदा अपना कर्तव्य निभाता,

प्यारा मिठठू है कहलाता।

-आशा पान्डेय

तोते हो

Poem On Tota

कभी न हँसते रोते हो,

तुम मिट्टी के तोते हो।

लाल रंग से रंगी हुई,

चोंच तुम्हारी प्यारी है।

हरे रंग की पूँछ तुम्हारी,

लगती सबसे न्यारी है।

नव रंगों में खोते हो,

तुम मिट्टी के तोते हो।

मीठे फल ना भाते हैं,

मिर्ची तुम्हें चिढ़ाते हैं।

पढ़ने लिखने से भैया,

मिठू जी कतराते हैं।

सपने कभी ना बोते हो,

तुम मिट्टी के तोते हो।

तुम सोते ना जगते हो,

पर असली से लगते हो।

पिंजरा जब भी खुल जाता,

कभी नहीं तुम भगते हो।

रिश्ता नहीं संजोते हो,

तुम मिट्टी के तोते हो।

-महेन्द्र कुमार वर्मा

अम्मा मुझे बना दो तोता

Tota Par Kavita In Hindi

अम्मा! मुझे बना दो तोता,

न जाने क्यों? मैं हूँ सोता।

क ख ग घ रट डालूँगा,

जो पाऊंगा सब खा लूँगा।।

नहीं करूँगा नहीं करूँगा,

तब मैं झगड़े नहीं करूंगा।

सुबह-शाम टीवी देखूॅंगा,

मौका पा गुल्ली खेलूँगा।।

चुप हो जाएगा यह तोता,

खाएगा रह रह कर गोता।

चुप हो जाएँगी तब नानी,

नहीं करूँगा मैं मनमानी।।

मन होगा गाऊँगा गाना,

सुन करके हँस देंगे नाना।

बापू भी खाएँगे गोता,

नहीं कहेंगे मैं हूँ सोता।।

अम्मा! मुझे बना दो तोता,

ना जाने क्यों? मैं हूँ सोता।।

-डॉ. विजयानन्द

पटू तोते की आजादी

Parrot Par Poem In Hindi

मंटू इक दिन बाबा के संग,

घूमने चमन बाजार गया।

एक जगह बिक रहा तोता,

बाबा से कह, खरीद लिया।।

पिंजरे में बंद था, वह तोता,

बहुत ही प्यारा लगता था।

हरी मिर्च वो प्रेम से खाता,

सुंदर वह खूब दिखता था।।

मंटू और उसकी बहन चिंकी,

तोते को पटू कह कर बुलाएँ।

पटू के साथ वो दोनों खेलते,

उसे टमाटर व केला खिलाएँ।।

मंटू चिंकी के दादा व दादी,

गाँव से शहर मिलने आए।

दादा व दादी दोनों के लिए,

बहुत सुंदर खिलौने लाएँ।।

मंटू और चिंकी पटू को लाए,

दादा-दादी को तोता दिखाए।

दुहराता पटू, बोली को सुन,

प्रसन्न होकर, ये बात बताए।।

तोते को पिंजड़े में बंद देख,

दादा प्यार ने उन्हें बुलाया।

कैद में रखना, है नहीं उचित,

ये बात दोनों को समझाया।।

उनको होने लगा पछतावा,

मंटू व चिंकी निर्णय किए।

पिंजड़े से पटू को उड़ा कर,

मंटू व चिंकी बहुत खुश हुए।।

-लाल देवेन्द्र कुमार

मुझे उम्मीद है की यह लेख तोता पक्षी पर कविता के बारे में जो जानकारी दी गयी है वो आपको अच्छा लगा होगा, यदि आपको यह post तोता पक्षी पर कविता (Poem On Parrot In Hindi) पसंद आया है तो कृपया कर इस पोस्ट को Social Media अपने दोस्तों के साथ अधिक से अधिक शेयर करें ताकि उन्हें भी इसके बारे में पूरी जानकारी मिल सके। हमारे वेबसाइट Gyankinagri.com को विजिट करना न भूलें क्योंकि हम इसी तरह के और भी जानकारी आप के लिए लाते रहते हैं। धन्यवाद!!!

Leave a Comment