31+ 🇮🇳 भारत देश पर सर्वश्रेष्ठ कविता | Poem On India In Hindi

4.4/5 - (5 votes)

Poem On India country In Hindi :- भारत की प्राचीन इतिहास और संस्कृति विशेष है। वहाँ के प्राचीन सभ्यताओं के प्रतिमाएँ, मंदिर, तीर्थंकरों और वैदिक ग्रंथों की अनेक उपनिषदों में बहुत महत्वपूर्ण स्थान हैं। भारत में विविध धर्मों के लोग एक साथ निवास करते हैं, जो देश के विविधता को दर्शाते हैं।

भारत विविध विविध प्रदेशों में विविध प्रकार की खेलकूद, संस्कृति, भोजन और भावनाओं को समृद्धि प्रदान करती है। भारतीय संविधान एक स्वतंत्र, समाजवादी और लोकतंत्र के अधिकारों पर आधारित है, जो सबसे महत्वपूर्ण नीतियों और अधिकारों के संग के व्यवस्थापन को दर्शाते हैं। भारत में कई अनुभवी प्रधानमंत्री और विचारक ने लोकतंत्र को पुनर्निर्माण किया है।

भारत में भारतीय स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) व गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) को धूमधाम और धूमधाम से मनाया जाता है। भारत एक विकसित देश है, जो विज्ञान, प्रौद्योगिकी, व्यापार, स्थानीय उद्योगों और खेती में तेजी से विकास कर रहा है। हालांकि, भारत के कुछ भागों में विकसितता की कमी और अपेक्षाकृत तहत गरीबी, अन्याय और अवहेलना की समस्याएं हैं, जो विकास के प्रगति को धीमा कर रही हैं।

भारत एक विवेकपूर्ण देश है जो विविध धर्मों, भाषाओं, पंथों, परंपराओं, इतिहासों और संस्कृतियों को समर्पित है। भारतीय संस्कृति काफी विकसित और पुरानी है। यहां पर महत्वपूर्ण तथ्य हैं जैसे कि वेद, महाभारत, रामायण, बृहदारण्यक, पुराण आदि।

मेरा भारत प्यारा

Poem On India In Hindi

poem-on-india-in-hindi

जिसकी शान हिमालय है,

मन निर्मल धारा है।

ऐसा पावन देश,

हमारा भारत प्यारा है।

सरहद में जाकर वीरों ने खून बहाया है,

आजादी का परचम विश्व में लहराया है।

रामायण की कथा यहां,

ज्ञान गीता का प्यारा है।

मानवता यहाँ कण-कण में,

सब बात सही कहते।

सभी धर्म के लोग यहाँ,

मिल जुलकर रहते।

ऐसी मानवता का लोहा,

माने जग सारा है।

गीता की अद्भुत वाणी,

नित मंदिर में होती।

रोज यहाँ मस्जिद में,

खुदा की अजान होती।

ऐसे देश में लिया,

जन्म सौभाग्य हमारा है।

एक तरफ़ सैनिक सरहद पे रक्षा करते,

हिन्द की रक्षा में जान वो फिदा करते।

भारत में है लिया,

जन्म अभिमान हमारा है।

ऐसा पावन देश हमारा भारत प्यारा है।

-शशि द्विवेदी

प्यारा देश हमारा

Poem On India In Hindi

poem-on-india-in-hindi

कितना प्यारा देश हमारा,

सबकी आंखों का है तारा।

आजादी के गीत सुनाता,

वीरों का इतिहास बताता।

लाल किले की प्राचीर से,

लहराता है तिरंगा प्यारा।

यहां पर झर-झर झरते झरने,

यहां पर कल-कल करती नदियां।

प्रकृति ने बड़े ध्यान से,

है देश का रूप संवारा।

कश्मीर की प्यारी धरती,

सैलानी के मन को हरती।

कितना प्यारा दृश्य यहां का,

कितना सुंदर यहां नजारा।

संगमरमर का ताजमहल,

पूर्णमासी में लगे कंवल।

देश के चौड़े माथे पर,

जगमग जैसे एक सितारा।

हिंदू-मुस्लिम, सिख-ईसाई,

हैं रहते सब बन कर भाई।

ऐसा संगम कहीं नहीं है,

अद्भुत है यह एक नजारा।

भिन्न भेष-भाषा है पर,

रहते हैं सब मिलजुल कर।

आपस में नहीं कोई झगड़ा,

बहती है यहां प्रेम की धारा।

काशी, मथुरा, बोधगया,

अजमेर और अयोध्या।

तीर्थ हैं सबकी श्रद्धा के,

इनसे जुड़ा है देश यह सारा।

देश की खातिर सदा खड़े हैं,

दुश्मन से जो नहीं डरे हैं।

सीमा पर तैनात हैं जो,

उन्हें जान से देश है प्यारा।

-मुजलालुद्दीन खान

भारत है सबसे न्यारा

Poem On India In Hindi

भारत है सबसे न्यारा, हमको प्राणों से प्यारा,

सिर पर मुकुट हिमालय का, चरणों में सागर खारा।

पावन गंगा नदी यहाँ, ऐसी धरती और कहाँ,

है कश्मीर स्वर्ग पृथ्वी का, तीरथराज प्रयाग यहाँ।

बलिदानों की यह वसुंधरा, त्याग हमारी थाती है,

बहती हुई समीर शहीदों की गाथाएं गाती हैं।

भारत है सबसे न्यारा….

हरा-भरा पंजाब, सुनहरा राजस्थान रंगीला,

है गुजराती शान निराली, महाराष्ट्र अलबेला।

कर्नाटक संगीत सुहाना, यक्षगान सम्मोहक,

केरल का सुंदर सागर-तट, कथक्कली मनमोहक ।

भारत है सबसे न्यारा…

कृष्णा और कावेरी की कल-कल करती जलधार,

कन्नड, मलय, तेलगू, तामिल भारत के गलहार।

पूर्वोत्तर है स्वर्ग सरीखा, हरा-भरा सुरभित वातायन,

जात्रा, बाउल और बिहू से लहक उठा यह आंगन।

भारत है सबसे न्यारा….

भिन्न बोलियां, अनेक रूप, किन्तु राष्ट्र-ध्वज एक है,

मजहब, पंथ अलग हों, लेकिन सबका मकसद एक है।

राष्ट्र-धर्म है सबसे ऊपर, भारत नया बनाना है,

कश्मीर से रामेश्वर तक इसका रूप सजाना है।

भारत है सबसे न्यारा…

-नवीन चतुर्वेदी

इसे भी पढ़ें :-

प्यारी माँ पर सुंदर कविता

शिक्षक दिवस पर कविता

सर्वश्रेष्ठ प्रेरणादायक कविताएं

स्वतंत्रता दिवस पर कविता

सोने सा देश

Bharat Par Kavita In Hindi

poem-on-india-in-hindi

चम-चम सोने-सा यह देश,

सबका अलग-अलग है वेश।

सीना खड़ा हिमालय ताने,

देश, विदेश सभी पहचाने।

वन-औषधि की धरती जननी,

संस्कृति भाषा है मन पहनी।

विविध भाँति की बोली-बानी,

संस्कृतियों की चूनर धानी।

सीमा पर प्रहरी ललकारें,

पूजा-घर गूँजे जयकारें।

सूरज चंदा किरणें उत्तरें,

ऋतुएँ हँसें अन्न-सब उभरें।

सिन्धु यहाँ गरजे‌ गुर्जाए,

सुनकर दुश्मन भी थर्राए।

गगन, पवन, बादल मिल बरसें,

हरियाली तन-मन से हरषें।

बालक-वृन्द सभी नर-नारी,

पग-पग विचरें जन-जन बारी।

अदभुत लोकतन्त्र का पहरा,

अन्तर में पैठा है गहरा।

सब मिलकर गहना बनते हैं,

माँ के तन-मन पर सजते हैं।

माँ गिरि नदियों संग बलखाती,

वेद, पुराण सहित इठलाती।

-शीला पांडे

मातृभूमि भारत

Poem On India In Hindi

यह जन्म धरा, यह कर्म धरा,

यह धर्म धरा कहलाती है।

यह वीरों की है जन्मभूमि,

रणधीरों की है कर्म भूमि।

है स्वर्ग से बढ़कर प्यारा यह,

है सारे जहां से अच्छा यह।

यह गुलशन की एक बगिया है,

खिलते कलियों की लड़ियां हैं।

यह जन्नत है यह मन्नत है,

यह भारत है, यह भारत है।

-शिवम कुमार सिंह

हमारा देश

Short Poem On India In Hindi

तीन रंगों के तिरंगे की शान तो देखो,

विश्व में हमारी पहचान तो देखो।

केसरिया बलिदान हमारा,

चक्र हमेशा चलने वाली।

सफेदगी में सादगी भरी,

हरा से हरियाली लागे।

देश में हमारे खुशहाली लागे,

अन्न में आत्मनिर्भर हुए।

किसानों ने साथ दिया,

वीर-जवानों से देश हमारा।

बना बहुत सशक्त,

अब तो फिर खुशहाल हुआ।

देश हमारा, भूमि हमारी,

फूलों की घाटी भी हमारी है।

धरती के स्वर्ग पर,

फिर से तिरंगा झंडा फहरायेगा।

-नितेश कुमार सिन्हा

इसे भी पढ़ें :-

विद्यालय पर कविता

गणतंत्र दिवस पर कविता

देशभक्ति पर कविता

अनमोल पिता पर कविता

सबसे न्यारा देश हमारा

Short Poem On India In Hindi

यह देश वल्लभ-गांधी का है,

आजाद जैसे फौलादी का।

लक्ष्मीबाई जन्मी यहीं पर,

उड़ा था होश फिरंगियों का।

धर्म-निरपेक्ष है देश हमारा,

भारत है हमको अपने जान से प्यारा।

लोकतांत्रिक है देश हमारा,

देश हमारा है सबसे न्यारा।

भारत को सर्वश्रेष्ठ बनाना है,

सभी अपराधों से मुक्ति पाना है।

भारत को शांतिप्रिय बनाना है,

शहीद हुए यहां वीर भगत सिंह।

भारत को स्वतंत्र कराने को,

याद रखें हम जज्बा उनका।

दुश्मनों के छक्के छुड़ाने को,

देश से प्रेम करना सीखें।

देश का आदर करना सीखें,

भारत को सर्वश्रेष्ठ बनाना सीखें।

-सौरभ कुमार ठाकुर

मेरा भारत महान

Poem On India In Hindi

इसकी नदियाँ शान बढ़ातीं,

हँसती-खेलतीं और बलखातीं।

आओ, हम सब करें नमन,

त्याग दें अपना तन-मन।

यह हमने लिया ठान है,

मेरा भारत महान है।

यहाँ का अजूबा ताजमहल,

यहाँ का पवित्र गंगाजल।

और यहाँ के हरे-भरे,

खेत और खलिहान हैं।

तिरंगा इसकी शान है,

मेरा भारत महान है।

इस देश में नहीं होता,

जात-पात का भेदभाव।

इसीलिए तो वीर जवान,

इसकी रक्षा में देते।

अपना बलिदान है,

मेरा भारत महान है।

यहाँ विभिन्न धर्मों के लोग,

करते योग रहते हैं निरोग।

यहाँ के वीर जवान सीमा पे,

रहते अपना सीना तान हैं।

इन पर हमें अभिमान है,

मेरा भारत महान है।

-तेजेश साहू

भारत भूमि

Short Poem On India In Hindi

नील गगन के नीचे है,

अपनी धरतीमाता।

इससे बढ़कर नहीं कोई,

जग में रिश्ता नाता।

भारत भू कहते हैं इसको,

इसकी छाया में हम पलते।

इसके पावन जल को पीकर,

नित्य रहें हँसते और बढ़ते।

पूरब मे है नागा साकी,

पश्चिम में है विंध्य सतपुड़ा।

दक्षिण केरल पायल इसकी,

उत्तर हिमालय से जुड़ा।

यहां बही है गंगा यमुना,

सतलज और सिंधु की धारा।

जिसके चरणों में खेला है,

भारत का हर राजदुलारा।

आओ भाई बहनों,

हमको माँ की रक्षा करनी है

इसकी रक्षा की खातिर ही

अब जीवन की हर करनी है।

-चन्द्रहास सेन

भारत देश

Bharat Par Kavita In Hindi

हिमालय की गोद से,

हिन्द की लहरों तक,

अविरल होती आरती,

यही हमारी जन्मभूमि,

वंदनीय माँ भारती।

देव जहाँ पर जन्म लिए,

कण-कण में ज्ञान भक्ति दिए,

मानवता की रक्षा हेतु,

दानव को संहारती,

यही हमारी……

जिसके गोद में बैठ मनीषी,

वेद पुराण उपनिषद रचे,

रामायण महाभारत का,

वह मंत्र सबको तारती,

यही हमारी…….

ऐसे ममता निर्मल पावन,

हृदय विशाल स्नेह जग भावन,

श्रद्धा से नतमस्तक हो,

जनजन माँ पुकारती,

यही हमारी……

-चन्द्रकुमार डड़सेना

इसे भी पढ़ें :-

प्रकृति पर कविता

पर्यावरण पर कविता

सच्ची मित्रता पर कविता

अनमोल बचपन पर कविता

वह है भारतवर्ष हमारा

Poem On India Country In Hindi

सदियों से जो स्वस्थ रहा है,

जिसको सब कंठस्थ रहा है।

हरदम न्याय-नीति की धारा-

वह है भारतवर्ष हमारा।

जहाँ प्रेम की बहती गंगा,

लहराता हो जहाँ तिरंगा।

जो सिखलाता भाईचारा-

वह है भारतवर्ष हमारा।

जहाँ पेड़ की पूजा होती,

प्राण वायु हरियाली ढोती।

सूरज बन जाता हरकारा-

वह है भारतवर्ष हमारा।

जहाँ परिन्दे पर फैलाकर,

धूप सेकते नभ पर जाकर।

जहाँ स्वच्छ हो अंबर सारा-

वह है भारतवर्ष हमारा।

जो सबका विश्वस्त रहा है,

जिससे सब आश्वस्त रहा है।

जो सबको देता उजियारा-

वह है भारतवर्ष हमारा।

-डॉ. मधुसूदन साहा

देश हमारा

Hindi Poem On Bharat Desh

चारों ओर उजाला बिखरा,

जगमग सारा देश हमारा।

खूब चमकता और दमकता,

प्रखर सितारा देश हमारा।।

जिसकी माटी में सोना है,

सबसे प्यारा देश हमारा।

अंधकार सब दूर हो गया,

अति उजियारा देश हमारा।।

सदा प्रगति के पथ का राही,

गंगा-धारा देश हमारा।

सतरंगी आभा है इसकी,

सबसे न्यारा देश हमारा।।

दीन, दुखी, शोषित-पीड़ित का,

बना सहारा देश हमारा।

धर्म, सत्य और नीति-रीति का,

घर है सारा देश हमारा।।

-शरद नारायण खरे

मेरा देश

Poem On Bharat In Hindi

मेरा देश, मुझे है प्यारा।

है मेरी आँखों का तारा।

शक्तिहीन जो इसे समझकर

लड़ने का अभियान रचेगा,

सच कहता हूँ, नहीं विश्व में

उसका नाम-निशान बचेगा।

यही रहा है मेरा नारा।

मेरा देश, मुझे है प्यारा।

वैसे मैं अपने नियमों से

सदा ‘सत्य’ का रहा पुजारी,

मैंने कभी न व्यर्थ किसी से,

छल करने की बात बिचारी।

यही जानता है जग सारा।

मेरा देश मुझे है प्यारा।

-मदन देवड़ा

मेरा भारत महान

Bharat Par Kavita In Hindi

मेरा भारत महान है,

विश्व की ये शान है।

शहीदों की बदौलत,

आजाद हुआ देश हमारा है।

पावन धरा पर होता गुणगान,

देश ऐसा मेरा महान है।

सर्व धर्म है समाहित इसमें,

तिरंगा लहराता इसकी शान हैं।

पावन नदियां कल कल बहती,

एकता की बातें कहती।

देशभक्ति की गाथाएं सुनाती,

रग रग में वीरता का खून दौड़ाती।

वतन पर मर मिटे मेरा देश महान है

ऐसा मेरे देश का तिरंगा महान है।

-संजय वर्मा

आशा है की आपको इस पोस्ट से 31+ भारत देश पर सर्वश्रेष्ठ कविता – Poem On India In Hindi के बारे में जो जानकारी दी गयी है वो आपको अच्छा लगा होगा, आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आई है तो अपने दोस्तों के साथ अधिक से अधिक शेयर करें ताकि उन्हें भी इसके बारे में पूरी जानकारी मिल सके। हमारे वेबसाइट Gyankinagri.com को विजिट करना न भूलें क्योंकि हम इसी तरह के और भी जानकारी आप के लिए लाते रहते हैं। धन्यवाद!!!

👉हमारे इस ज्ञान की नगरी वेबसाइट पर बेहतरीन हिंदी कविताएँ का संग्रह उपलब्ध कराया गया है, आप जों कविताएं पढ़ना चाहते हैं यहां क्लिक कर पढ़ सकते हैं –

हिन्दी कविताओं को पढ़ने के लिए 👇 क्लिक करें

नया साल 2023पेड़प्यारी माँ
सरस्वती माँ कवितास्वतंत्रता दिवसप्रेरणादायक कविता
होली पर्वशिक्षक दिवसहिन्दी दिवस
सच्ची मित्रताप्रकृतिपर्यावरण
गणतंत्र दिवसदेशभक्तिवीर सैनिक
अनमोल पिताविद्यालयबचपन
चिड़िया रानीनदीचंदा मामा
सर्दी ऋतुगर्मी ऋतुवर्षा ऋतु
वसंत ऋतुतितली रानीराष्ट्रीय पक्षी मोर
राष्ट्रीय फल आमकोयलफूल
पेड़सूर्यबादल
दीप उत्सव दिवालीबंदरजल
योग दिवसरक्षाबंधनचींटी रानी
स्वामी विवेकानंद जीसुभाषचन्द्र बोसलाल बहादुर शास्त्री
महात्मा गांधीडॉ भीमराव अंबेडकरसरदार वल्लभ भाई पटेल
एपीजे अब्दुल कलामबाल दिवसगाँव
नारी शक्तिगौरैयाअनमोल समय
शिक्षादादाजीदादी मां
किताबबाल कविताबालगीत
प्यारी बेटीसड़क सुरक्षागाय
रक्षाबंधनदादा-दादीतोता
आमतिरंगागुलाब का फूल
हरिवंश राय बच्चनसुमित्रानंदन पंतरेलगाड़ी
झरनाचूहामधुमक्खी
वसंत पंचमीमकर संक्रांतिहाथी
गंगा नदीहिमालय पर्वतकृष्ण जन्माष्टमी
किसानमजदूर दिवसक्रिसमस
hindi poem

2 thoughts on “31+ 🇮🇳 भारत देश पर सर्वश्रेष्ठ कविता | Poem On India In Hindi”

Leave a Comment

close